SET-4 बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र

1. शिक्षणार्थ भ्रमण में आप बच्चों से क्या अपेक्षा करेंगे?
(a) बच्चे हर स्थान व वस्तु को ध्यान से देखें और उसके बारे में शिक्षक से प्रश्न करें
(b) बच्चे चुपचाप सब कुछ देखें शिक्षक से कोई प्रश्न न करें
(c) बच्चे यदि कुछ पूछना चाहें, तो अपने प्रश्न अपनी नोटबुक में लिख लें
(d) बच्चे आनन्द में घूमें, शिक्षक को भी आनन्द में घूमने दें।

Answer

उत्तर- (a)
व्याख्या : शिक्षणार्थ भ्रमण में आप बच्चों से अपेक्षा करेंगे कि बच्चे हर स्थान व वस्तु को ध्यान से देखें और उसके बारे में शिक्षक से प्रश्न करें।

2. कक्षा शिक्षण में कोई मनोरंजक प्रसंग आने पर छात्रों का खुलकर हंस देना प्रदर्शित करता है-

(a) अनुशासनहीनता
(b) प्रभावी शिक्षण
(c) प्रभावी शिक्षण अधिगम प्रक्रिया
(d) अधिगम

Answer

उत्तर- (c)
व्याख्या : कक्षा शिक्षण में कोई मनोरंजक प्रसंग आने पर छात्रों का खुलकर हंस देना प्रभावी शिक्षण अधिगम प्रक्रिया प्रदर्शित करता है।

3. अच्छे परीक्षण की विशेषता नहीं है-

(a) विश्वसनीयता
(b) वैधता
(c) संक्षिप्तता
(d) वस्तुनिष्ठता

Answer

उत्तर- (c)
व्याख्या : अच्छे परीक्षण की विशेषता संक्षिप्तता नहीं है।

4. एक अच्छी मूल्यांकन परीक्षा के महत्त्वपूर्ण गुण होते हैं-

(a) व्यापकता,मूल्यांकन और व्यावहारिकता
(b) वैधता, व्यापकता और मूल्यांकन
(c) वैधता, व्यावहारिकता और मूल्यांकन
(d) इनमें से कोई नहीं

Answer

उत्तर- (c)
व्याख्या : एक अच्छी मूल्यांकन परीक्षा के महत्त्वपूर्ण गुण वैधता, व्यावहारिकता और मूल्यांकन होते हैं।

5. अनुकूल वातावरण एवं परिवेश का बच्चे के मानसिक विकास पर क्या प्रभाव पड़ता है?

(a) बच्चा मनमानी करने लगता है।
(b) उसका सही रुचियों एवं आदतों से पूर्ण एवं अच्छा विकास होता है।
(c) उसमें अत्यन्त गौरव एवं दम्भ के भाव आ जाते हैं।
(d) वह अपने को सभी से श्रेष्ठ समझकर शेखी बघारने लगता है।

Answer

उत्तर- (b)
व्याख्या : जब बच्चे को अनुकूल वातावरण एवं परिवेश मिलते हैं तो उसको प्रदत्त मार्गदर्शन अच्छी आदतों की नींव डालकर उसे एक अच्छा व्यक्तित्व बनाने में सहायक होता है।

6. शैक्षिक पाठ्यक्रम प्रेरित होना चाहिए-

(a) आदर्श से
(b) सत्य से
(c) धर्म से
(d) प्रयोजन से

Answer

उत्तर- (d)
व्याख्या : शैक्षिक पाठ्यक्रम प्रयोजन से प्रेरित होना चाहिए।

7. कक्षा अध्यापन में उत्साही अध्यापक-

(a) उनमें प्रायः विषयों की प्रवीणता का अभाव होता है, जो उनके उत्साह के नीचे छिपा रहता है।
(b) छात्रों का ध्यान खींचने के लिए केवल नाटकीय रूप दे देते हैं।
(C) अपने छात्रों को अध्यापन-अधिगम की प्रक्रिया में अंतर्ग्रस्त कर लेते हैं।
(d) उनमें उपरोक्त सभी बातें होती हैं।

Answer

उत्तर- (c)
व्याख्या : कक्षा अध्यापन में उत्साही अध्यापक अपने छात्रों को अध्यापन अधिगम की प्रक्रिया में अंतर्ग्रस्त कर लेते हैं।

8. यदि कोई परीक्षण विभिन्न अवसरों पर समान परिणाम देता है, तो यह कहलाता है –

(a) वैध परीक्षण
(b) अध्यापक निर्मित परीक्षण
(c) विश्वसनीय परीक्षण
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं

Answer

उत्तर- (a)
व्याख्या : यदि कोई परीक्षण विभिन्न अवसरों पर समान परिणाम देता है,तो यह वैध परीक्षण कहलाता है।

9. जब छोटा बच्चा कोई भी नया खिलौना या चीज पाता है, उसे मुँह से लगाता है फिर थोड़ी देर में पटककर तोड़ देता है। आपकी दृष्टि में इसे कहेंगे?

(a) इसे बच्चे की सृजनात्मक प्रक्रिया का विकास मानेंगे
(b) बाल सुलभ गलतियां मानेंगे
(c) बच्चे की भूख की भावना का अहसास करेंगे
(d) बच्चे का खेल कहेंगे

Answer

उत्तर- (a)
व्याख्या : छोटे बच्चे के द्वारा वस्तुओं को कौतूहलपूर्वक लेना, मुँह में लगाना एक स्वाभाविक प्रक्रिया है क्योंकि उसके लिए सभी चीजों को मुख से परखा। जा सकता है यदि उपयुक्त न पाए जाने पर वह उसे तोड़ता है तो यह उसकी सृजनात्मक प्रक्रिया का एक भाग है। अतः विकल्प (a) उचित है।

10. शिक्षा त्रि-स्तम्भीय प्रक्रिया मानी जाती है जिसके दो स्तम्भ हैं- अध्यापक
और छात्रा तीसरा स्तम्भ है-

(a) पाठ्यचर्या
(b) शिक्षण तकनीक
(c) पर्यावरण
(d) प्रशासन

Answer

उत्तर- (a)

व्याख्या : शिक्षा का तीसरा स्तम्भ पाठ्यचर्या है।

11. प्रश्न पत्र का सही स्वरूप है-

(a) पहले आसान और बाद में कठिन प्रश्न
(b) कठिन और आसान का अनुपात बराबर
(c) प्रश्नपत्र ऐसा हो कि सभी बच्चे पास हो जाएं
(d) आसान और कठिन बारी-बारी से

Answer

उत्तर- (a)
व्याख्या : प्रश्न पत्र का सही स्वरूप पहले आसान और बाद में कठिन प्रश्न है।

12. अध्येता केंद्रित शिक्षण से आशय है-

(a) प्रत्येक छात्र की आवश्यकता का ध्यान रखना
(b) छात्रों को मनमानी करने की छूट देना
(c) छात्रों को निःशुल्क शिक्षा देना
(d) शिक्षण में छात्रों का पूर्ण सहयोग लेना

Answer

उत्तर- (d)
व्याख्या : अध्येता केंद्रित शिक्षण से आशय शिक्षण में छात्रों का पूर्ण सहयोग लेना है।

13. शिक्षक उसी स्थिति में अपने छात्रों को प्रभावित कर सकता है, जबकि-

(a) वह अध्ययन करके पूरी तैयारी से कक्षा में पढ़ाये
(b) वह पढ़ाते समय ‘मनोवैज्ञानिक – शिक्षा के सिद्धांतों का प्रयोग करे
(C) वह छात्रों से दृढ़ता से काम ले |
(d) हर बात को कई बार दुहराकर छात्रों को समझाये

Answer

उत्तर- (b)
व्याख्या : शिक्षक उसी स्थिति में अपने छात्रों को प्रभावित कर सकता है,
जबकि वह पढ़ाते समय ‘मनोवैज्ञानिक – शिक्षा के सिद्धांतों का प्रयोग करे।

14. शिक्षा सार्थक तभी होगी, जब वह-

(a) पाठ्यक्रम-केंद्रित हो
(b) शिक्षक-केंद्रित हो
(c) समाज-केंद्रित हो
(d) छात्र-केंद्रित हो

Answer

उत्तर- (d)
व्याख्या : शिक्षा सार्थक तभी होगी, जब वह छात्र-केंद्रित हो।

15. शिक्षा के क्षेत्र में किए जाने वाले मूल्यांकन से जाना जा सकता है कि –

(a) विद्यार्थी कितना बुद्धिमान है।
(b) अध्यापक द्वारा पढ़ाया गया कार्य विद्यार्थी किस प्रकार प्रस्तुत करता है।
(c) विद्यार्थी पूरे वर्ष में किए गए कार्य का कितना भाग याद कर सकता है।
(d) विद्यार्थी का शैक्षिक विकास सही दिशा में हो रहा है या नहीं

Answer

उत्तर- (d)
व्याख्या : शिक्षा के क्षेत्र में किए जाने वाले मूल्यांकन से जाना जा सकता है कि विद्यार्थी का शैक्षिक विकास सही दिशा में हो रहा है या नहीं।

16. वैज्ञानिक अभिवृत्ति रखने वाला छात्र करता है-

(a) योजनाबद्ध अध्ययन
(b) अच्छी नौकरी प्राप्त करने का प्रयास
(c) विवेकपूर्ण चिंतन |
(d) साहसी होता है।

Answer

उत्तर- (c)
व्याख्या : वैज्ञानिक अभिवृत्ति रखने वाला छात्र विवेकपूर्ण चिंतन करता है।

17. कक्षा-शिक्षण की सफलता निहित है-

(a) कक्षा में पूर्ण अनुशासन में
(b) शिक्षक और छात्रों के बीच संतुलित एवं सुसंगत संवाद में
(c) दृश्य सामग्री की उपस्थिति में
(d) श्यामपट्ट का प्रचुर प्रयोग में

Answer

उत्तर- (b)
व्याख्या : कक्षा-शिक्षण की सफलता शिक्षक और छात्रों के बीच संतुलित एवं सुसंगत संवाद में निहित है।

18. मूल्यांकन में अंतर्निहित है-

(a) शैक्षिक प्रगति की प्रेरणा
(b) भाषण की प्रेरणा
(c) खाने पीने की प्रेरणा
(d) इनमें से कोई नह

Answer

उत्तर- (a)
व्याख्या : मूल्यांकन में शैक्षिक प्रगति की प्रेरणा अंतर्निहित है।

19. प्राथमिक स्तर का पाठ्यक्रम होना चाहिए-

(a) विषय-केंद्रित
(b) कोर पाठ्यक्रम
(c) बाल-केंद्रित
(d) पुस्तक आधारित

Answer

उत्तर- (c)
व्याख्या : प्राथमिक स्तर का पाठ्यक्रम बाल-केंद्रित होना चाहिए।

20. बहुत से बच्चे अपने मन के अनुकूल कार्य करने हेतु, जिसमें किसी काम को करना यानि कार्टून देखना या किसी वस्तु को पाना यानि घर में आई किसी वस्तु को अपने लिए रखना और दूसरों को देने से परहेज करने की प्रवृत्ति से बच्चे जिद्दी हो जाते हैं। ऐसे बच्चों को सही मार्गदर्शन आपकी दृष्टि में क्या होगा?

(a) बच्चे को महत्त्व देना पर मनमानी करने से रोकना
(b) जिद्दी होने से बचाने कि लिए उनकी इच्छापूर्ति तत्काल न करना
(c) बच्चे को काम स्वेच्छानुसार करवाने के साथ-साथ अनुशासित समय में टीवी कार्टून आदि देखने देना
(d) उसकी पिटाई करन

Answer

उत्तर-(c)
व्याख्या : जब बच्चा सब कुछ अपने पास लेने लगे तो माता-पिता को तथा अन्य भाई-बहनों को इस प्रक्रिया में शामिल कर उसके मन की बात करना उसमें स्वाभिमान भरेगा, परन्तु अनुशासन में रखने से वह जिद्दी होने से
बचेगा। अतः विकल्प (c) उपयुक्त है।

21. कभी-कभी अध्येता प्राथमिक विद्यालय को नापसंद करता है-

(a) परीक्षा में अनुत्तीर्ण होने के भय से
(b) अध्यापक द्वारा दंडित होने पर
(c) आनंदमय अधिगम न होने पर
(d) अनाकर्षक विद्यालय वातावरण होने पर

Answer

उत्तर- (c)
व्याख्या : आनंदमय अधिगम न होने पर अध्येता प्राथमिक विद्यालय को
नापसंद करता है।

22. अध्ययन हेतु छात्र का ध्यान आकृष्ट करने हेतु आप क्या करेंगे?

(a) दृश्य-श्रव्य सामग्री का उपयोग करेंगे।
(b) पाठ के विकास में छात्रों को सहभागी बनाएँगे |
(c) पाठ को रोचक बनाएँगे
(d) उपर्युक्त सभी

Answer

उत्तर- (d)
व्याख्या : अध्ययन हेतु छात्र का ध्यान आकृष्ट करने हेतु आप उपर्युक्त सभी उपाय करेंगे।

23. दैनिक मूल्यांकन लाभदायक होता है-

(a) बालकों का ध्यान केंद्रित करने में
(b) बालकों की तात्कालिक शैक्षिक स्थिति का पता लगाने में
(C) कक्षा को अधिकाधिक तंग करने में
(d) शिक्षक द्वारा अपने कर्तव्य का मूल्यांकन करने में

Answer

उत्तर- (b)
व्याख्या : दैनिक मूल्यांकन बालकों की तात्कालिक शैक्षिक स्थिति का पता लगाने में लाभदायक होता है।

24. निम्नलिखित में से कौन-सा गुण एक सफल अध्यापक होने के लिए आवश्यक है-

(a) समय की पाबंदी
(b) कर्तव्यनिष्ठ होना
(C) विषयवस्तु का समुचित ज्ञान होना
(d) सख्ती से अनुशासन स्थापित करने वाला होना

Answer

उत्तर- (c)
व्याख्या : विषयवस्तु का समुचित ज्ञान होना एक सफल अध्यापक होने के लिए आवश्यक है।

25. कुछ मात-पिता अपनी व्यस्तता के चलते बच्चों को महंगे-महंगे उपकरण अपनी सम्पन्नता के प्रदर्शन हेतु लाकर देते हैं जिससे उसे किसी की आवश्यकता न पड़े, आत्मनिर्भर हो और उनको डिस्टर्ब न करे। ऐसी परिस्थितियों का आपकी दृष्टि में क्या परिणाम होगा?

(a) बच्चे का समुचित विकास होने के बदले उसमें आत्मकेंद्रियता, दम्भ एवं झूठी शान बघारने की आदत पड़ जाती है।
(b) ऐसे बच्चे अपने समकक्षी को निम्न दृष्टि से देखेंगे
(c) उनमें एकांतप्रियता और ऐशोआराम के भाव जागेंगे
(d) उनका समुचित विकास अवरुद्ध होगा

Answer

उत्तर-(a)
व्याख्या : बच्चे के समुचित विकास के लिए उसका समाज के अन्य लोगों से मिलना-जुलना, सामान्य परिस्थितियों का अनुभव करने और स्वस्थ परिवेश मिलने से होता है। अतः इस प्रकार के कार्यों से उनमें दम्भ, स्वकेंद्रियता तथा झूठी शान पनपेगी फलतः विकल्प (a) ठीक है।

26. प्रभावी एवं सफल शिक्षण के लिए आवश्यक तत्व है-

(a) विद्यार्थियों को अधिकाधिक नोट्स लिखवाना
(b) व्यावहारिक उदाहरणों द्वारा विषय को स्पष्ट करना |
(c) श्यामपट्ट का अधिकाधिक उपयोग करना
(d) साहित्यिक भाषा का अधिकाधिक प्रयोग करना

Answer

उत्तर- (b)
व्याख्या : प्रभावी एवं सफल शिक्षण के लिए आवश्यक तत्व है-व्यावहारिक उदाहरणों द्वारा विषय को स्पष्ट करना।

27. जब बच्चे का परिवेश कलहपूर्ण, गाली-गलौज, तथा अभावयुक्त होता है तो उसके अन्दर किस प्रकार के सामाजिक विकास की सम्भावना होती है?

(a) ऐसे बच्चे स्कूल के सामान्य वातावरण में असहज रहते हैं।
(b) शारीरिक एवं वय वृद्धि के साथ उन्हें हीन भाव का अहसास होता है तथा असामाजिक कृत्यों की ओर प्रवृत्त होते हैं।
(c) ऐसे बच्चे अपने जैसे परिवेश वाले बच्चों की खोज करते है।
(d) यदि अनुशासित न हुए तो अभावों की दुनिया उनमें विद्रोही भाव भरती है।

Answer

उत्तर-(b)
व्याख्या : परिवार एवं परिवेश की घिनौनी हरकतें, माता-पिता की कलह, अभावों के बीच सन्तोष के बदले उनमें बड़े होने पर अपराध बोध बढ़ता है। तथा अपने झूठे बड़प्पन के लिए वे असामाजिक कृत्य में लग सकते हैं। अतः विकल्प (b) ठीक है।

28. जिन परिवारों का वातावरण गरिमामय, भरा-पूरा अनुशासित,संस्कारित तथा धर्मशील युक्त होता है मात-पिता झगड़ते नहीं, उन परिवार के बच्चों में किस प्रकार के विकास की सम्भावना प्रतीत होती है?

(a) ऐसे परिवार यदि अनुशासित ढंग से पालन-पोषण करें तो सम्भ्रान्त एवं सफल व्यक्तित्व वाले नागरिक उत्पन्न होंगे।
(b) आत्मगौरव एवं स्वाभिमान से भरे बच्चे दूसरे को तिरस्कृत करेंगे
(c) महत्त्वाकांक्षी होंगे
(d) कट्टर धार्मिक एवं अपने ही अस्तित्व के प्रति स्वार्थी सजग होंगे

Answer

उत्तर-(a)
व्याख्या : यदि परिवार एवं परिवेश सुसंस्कारित, शील आचरण से भरापूरा और अनुशासित होगा तो बच्चे भी वैसा ही अनुकरण कर उच्च लक्ष्य प्राप्त करेंगे। अतः विकल्प (a) उचित है।

29. कई बार ऐसा देखा गया है कि परिवार में एक आई.ए.एस. बना तो कई आई.ए.एस., डाक्टर बनने पर कई डाक्टर, व्यवसायी बनने पर कई व्यवसायी बनते हैं। इस प्रकार के मिथक को स्पष्ट कैसे करेंगे?

(a) परिवार में अनुकरण की प्रवृत्ति के कारण ।
(b) आई.ए.एस., डाक्टर, व्यवसायी बनने की जन्मजात प्रतिभा होती है।
(c) हीन भावना से बचने के लिए परिवार के जन एक जैसा प्रयास करते हैं और गौरव बोध कराते हैं।
(d) यह पैतृक विरासत एवं सभी सुविधाओं एवं मार्गदर्शन से पुष्ट परिवेश का फल है।

Answer

उत्तर- (d)
व्याख्या : स्पष्टतः परिवार में कोई भी उच्च पदस्थ अधिकारी होने से तौरतरीके उसी के अनुसार हो जाते हैं फलतः गौरव बोध एवं परिश्रम से लक्ष्य मिलता है। अतः (d) उचित है।

30. विद्यार्थियों के अधिगम का मूल्यांकन होना चाहिए-

(a) सतत एवं व्यापक प्रक्रिया से
(b) प्रत्येक सत्र के अंत में
(c) प्रत्येक पाठ के अंत में ।
(d) वार्षिक प्रक्रिया से

Answer

उत्तर- (a)
व्याख्या : विद्यार्थियों के अधिगम का मूल्यांकन सतत एवं व्यापक प्रक्रिया से होना चाहिए।

31. शिक्षा की खेल विधि से तात्पर्य है-

(a) खेल क्रियाओं द्वारा शिक्षा
(b) खेल क्रियाओं द्वारा मनोरंजन
(c) खेल की शिक्षा
(d) क्रियाशीलता पर जोर

Answer

उत्तर- (a)
व्याख्या : शिक्षा की खेल विधि से तात्पर्य खेल क्रियाओं द्वारा शिक्षा से है।

32. समाज में बहुत से व्यक्ति बचपन में किसी समुदाय के सामाजिक मानकों से अनजान होने के कारण अलग-थलग पड़ जाते हैं। ऐसे व्यक्तियों को आप किस रूप में समझेंगे और उनका समाज के लिए क्या उपयोग है?

(a) ऐसे व्यक्ति एकांतप्रिय एवं स्वेच्छाचारी होते हैं।
(b) ऐसे व्यक्ति बचपन से ही सामाजिकताविहीन के रूप में निरुपित होते हैं जो अन्यथा अपनी व्यावसायिक प्रतिभा से समाज एवं व्यवसाय का हित करते
(c) ऐसे समाज से पृथक पड़े लोग समाज से बहुत भयभीत होते हैं
(d) इनमें से कोई नहीं

Answer

उत्तर- (b)
व्याख्या : सामाजिक आचार-विचार (मानकों) से बचपन से अज्ञात होने के कारण ऐसे व्यक्तित्व सामाजिकताहीन होने से समाज की गतिविधियों, कार्यों में पीछे रहकर अनुकरण करना चाहते हैं और सफलता पाने के लिए दूसरों पर निर्भर करते हैं। अतः विकल्प (b) अभीष्ट है।

33. कक्षा में नया पाठ पढ़ाने से पूर्व शिक्षक को-

(a) बच्चों का हाल-चाल पूछ लेना चाहिए।
(b) पिछले दिन पढ़ाए गए पाठ के संबंध में छात्रों की समस्याओं का निवारण कर लेना चाहिए।
(c) नए पाठ के बारे में बच्चों की रुचि और जिज्ञासा पैदा कर लेनी चाहिए
(d) बच्चों को बता देना चाहिए कि वे नए पाठ के लिए दत्तचित होकर तैयार हो जाएँ

Answer

उत्तर- (b)
व्याख्या : कक्षा में नया पाठ पढ़ाने से पूर्व शिक्षक को नए पाठ के बारे में बच्चों की रुचि और जिज्ञासा पैदा कर लेनी चाहिए।

34. बाल-केंद्रित शिक्षा से तात्पर्य है-

(a) शिक्षक को बालक के स्तर तक आना होगा।
(b) ज्ञान को लघु पदों में बाँटना जिसे बालक सरलता से सीख सकता है।
(c) पाठ के कठिन बिंदुओं को हटा देना
(d) अध्ययन करते हुए कि बालक कैसे पढ़ेगा तथा सीखने की परिस्थितियां उत्पन्न करना

Answer

उत्तर- (d)
व्याख्या : अध्ययन करते हुए कि बालक कैसे पढ़ेगा तथा सीखने की
परिस्थितियां उत्पन्न करना, बाल-केंद्रित शिक्षा से यही आशय है।

35. उम्र बढ़ने के साथ बच्चों की सामाजिकता पर प्रभाव की दृष्टि से सर्वाधिक योगदान किसका होता है?

(a) माता-पिता का, परिवार का एवं परिवेश का
(b) स्कूल में शिक्षक का
(c) मित्रों का, सहपाठियों का
(d) ऐसे लोग जिनको बच्चे अपने आदर्श मान लेते हैं।

Answer

उत्तर-(d)
व्याख्या : प्रायः देखा जाता है कि बच्चे अपने विचार निर्मूल भाव से मातापिता या शिक्षकों से कहने की बजाय अपनी मित्र मंडली से व्यक्त करते हैं तथा उस समुदाय में अपनत्व महसूस करने के लिए उनकी गलत सलाह की स्वीकार कर लेते हैं। अतः विकल्प (d) ही अभीष्ट है।

 

Leave a Comment